कोरोना वायरस का कहर- चीन में 818 लोगों की मृत्यु

0
394
Corona-virus

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने घोषित किया स्वास्थ्य आपातकाल

कोरोना वायरस को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने गहरी चिंता व्यक्त की है। डब्ल्यूएचओ ने इस वायरस को वैश्विक स्वास्थ्य आपदा घोषित कर दिया है। कोरोना वायरस के फैलने से सबसे बड़ी आबादी वाले देश चीन में 818 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। जबकि इसके संपर्क में आने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 20,000 हो चुकी हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक कोरोना वायरस चीन के साथ साथ भारत सहित 25 देशों में अपना संक्रमण फैला चुका है। चीन के अलावा इस वायरस के 115 मामले सामने आए हैं। इंग्लैंड में भी दो जगह इस वायरस का संक्रमण देखने को मिला।

 

डब्ल्यूएचओ के मुख्य टेड्रोस ऐडहेनोम गैब्रीपेसोस के अनुसार जिस प्रकार यह वायरस दूसरे देशों में संक्रमित हो रहा है, उसको मद्देनजर रखते हुए आपातकाल लागू किया गया है। चिंता का विषय यह है कि उन देशों में कोरोना वायरस शीघ्रता से फैल सकता है जिन देशों में स्वास्थ्य प्रणाली बेहद कमजोर है।

जर्मनी,ब्रिटेन और फ्रांस ने चीन की ओर जाने वाली उड़ानों को किया रद्द, अमेरिकन एयरलाइंस पर पायलटों द्वारा केस
यूएसए ने अपने सिटीजन को चीन की यात्रा नहीं करने का मशवरा दिया है। वही ब्रिटिश एयरलाइंस, एयर फ्रांस, लुफ्थांसा एवं डेल्टा ने चीन की ओर जाने वाली उड़ानों को रद्द कर दिया है। अमेरिकी पायलटों के ग्रुप ने अमेरिकन एयरलाइंस पर केस दर्ज किया है ताकि चीन की ओर जाने वाली उड़ानों को अति शीघ्र रोका जा सके। दूसरी तरफ ब्रिटेन का विमान 83 ब्रिटिश नागरिकों के साथ साथ 110 लोगों को लेकर ब्रिटेन पहुंच चुका है।

त्रैमासिक घाटे में चीन

इन चल रहे तीन महीनों में चीन को कोरोना वायरस से 4.26 लाख करोड़ रुपए का घाटा हो सकता है। जिससे चीन की अर्थव्यवस्था काफी हद तक डगमगा जाएगी। इस वायरस से चीन में पर्यटन प्रभावित हुआ। इस वर्ष पहले के मुताबिक 40% कम लोग चीन में घूमने आए। कोरोना वायरस से बीमा सेक्टर को भी काफी मात्रा में नुकसान हुआ।

corona virus hongkong

चीन के वुहान से लौटने वाले यात्रियों के लिए बनाया गया केंद्र

चीन के वुहान क्षेत्र से वापिस आने वाले भारतीय लोगों की स्वास्थ्य जांच को लेकर भारतीय सेना ने बड़ी तैयारी की है। भारतीय सेना ने हरियाणा राज्य के मानेसर नामक स्थान पर स्वास्थ्य जांच केंद्र बनाया है। सर्वप्रथम हवाई अड्डे पर यात्रियों की जांच होगी तत्पश्चात उन्हें मानेसर स्थित स्वास्थ्य केंद्र पर लाया जाएगा। अगर कोई कोरोना वायरस से ग्रस्त पाया जाएगा तो उसे दिल्ली कैंट में स्थित अस्पताल में अलग से बनाए गए वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाएगा। जहां उसका पूर्णता इलाज किया जाएगा।

कोरोना वायरस से संक्रमित देश

इटली, श्रीलंका, चीन, भारत, दक्षिण कोरिया, अमेरिका, फ्रांस, नेपाल, जर्मनी, यूएई, मलेशिया, वियतनाम, जापान, रूस, ऑस्ट्रेलिया, ताईवान, मकाऊ, ब्रिटेन, कंबोडिया, सिंगापुर, थाईलैंड, फिनलैंड, बोत्सवाना, फिलीपींस आदि देश कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here