एक बड़ा, कड़ा और ऐतिहासिक फैसला – जम्मू कश्मीर

0
235
Jammu-and-Kashmir

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज लिया अहम फैसला अब जम्मू कश्मीर और लद्दाख अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेश होंगे। इस अहम फैसले के लिए गृह मंत्री अमित शाह ने कानून मंत्री शंकर प्रसाद और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के साथ पीएम मोदी के निवास पर 20 मिंट की एक मीटिंग की थी। उसके बाद ग्रह मंत्री अमित शाह ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री एस जयशंकर और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ साथ पीएम मोदी जी के नेतृत्व में इस फैसला के लिए चर्चा की।

बना खुशी का माहौल

आज सोमवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह द्वारा राज्यसभा में केन्द्रीय मंत्रिमंडल की स्पेशल बैठक बुलाई गई। जम्मू कश्मीर में 70 साल से लागू अनुच्छेद 370 हटाने का संकल्प पेश किया गया। यह भी मौजूदा सरकार का एक बड़ा, कड़ा और ऐतिहासिक फैसला है। सरकार का ये फैसला एक बड़ी उपलब्धि है । बैठक में विपक्ष के राहुल गांधी, अहमद पटेल , जयराम रमेश आदि कई शीर्ष नेता भी थे । इस फैसले के बाद देश में जगह-जगह पर तिरंगा लहरा कर जश्न मनाया जा रहा है। शिवसेना मुंबई के दफ्तर के आगे आतिशबाजीयों से मिठाई बांट कर खुशी मनाई जा रही है। सब तरफ ढोल धमाके के साथ जश्न मनाया जा रहा है। भारत का झंडा लहरा कर लोग मिठाईयां बाँट कर खुशी मनाए जा रहे है। जम्मू कश्मीर और लद्दाख की अलग-अलग विधानसभा होगी जो कि केंद्र शासित प्रदेश रहेगा ।

1947 के बाद मिली ये दूसरी आजादी

जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने से एक तरफ विपक्षी पार्टी काला दिवस के रूप में कह रहे हैं दूसरी ओर लोग इसकी प्रशंसा करते हुए इसे भारत की दूसरी आजादी का नाम दे रहे हैं लोगों का कहना है कि कश्मीर पहले सिर्फ टूरिज्म पर ही निर्भर करता था अब यहाँ बाहर से कंपनियां आएंगी व्यापार बढ़ेंगे और कश्मीर का विकास होगा । 71 साल बाद ये दूसरी आजादी के रूप में मान रहे हैं । लोगों का कहना है कि एक आजादी हमें 1947 में मिली थी एक 71 साल बाद मोदी सरकार के नेतृत्व में मिली है। अब पूरे भारत मे एक हिंदुस्तान, एक संविधान, एक झंडा रहेगा। अब अलग झंडा अलग संविधान वाली परिभाषा खत्म।

विपक्ष की नजर से

विपक्षपार्टी के नेता गुलाम नबी आजाद ने इसे काले दिवस में मनाने को कहा है । एक झटके में BJP ने सत्ता के नशे में जम्मू कश्मीर कल्चर के हिसाब से, हिस्ट्री के हिसाब से, राजनीति के हिसाब से हर तरह से अलग है । जहाँ मुस्लिम लोग रहते है सभी कल्चर को अनुछन्द 370 ने बांध कर रखा हुआ था प्रधानमंत्री मोदी जी को टारगेट करते हुए कहा कि सत्ता का नशा इतना बढ़ गया है 370 खत्म कर दिया साथ मे 35A भी खत्म कर स्टेट को विभाजित भी कर दिया विभाजित के साथ यूनियन ट्रेंटरी भी बना दिया। नबी जी ने कहां कि नए नए सता में आये है इनको ये नही पता कि चीन के साथ कितना बड़ा बोडर है । स्टेट की यूनिटी को खत्म करने का घटिया काम किया है। कश्मीर के लोगो ने चीन हमले को अपने बल बुते पर संभाला था। BJP लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ करे जा रही है। BJP वोट लेने के लिए, जनता को अपने हित में करने के लिए देश के टुकड़े टुकड़े कर रही है जो कि भारत के हित में नहीं है।

कश्मीर में पसरा सन्नाटा

इस ऐतिहासिक फैसले के लिए जम्मू कश्मीर में हालात सही बने रहे जिसके लिए सरकार ने पहले ही पुख्ता इंतजाम कर लिए थे। राज्य में सोमवार सुबह 6:00 बजे से धारा 144 लागू की गई। राज्य में जगह-जगह पर नाके लगाए गए हैं। राज्य में आने जाने वाली सभी गाड़ियों की तलाशी की जा रही है । किसी को बाहर आने-जाने , घूमने- फिरने की इज्जाजत नही थी। कम्युनिकेशन की हर तरह की सुविधा इंटरनेट व्हाट्सअप, कॉल आदि सभी सुविधाओं को बंद कर रखा है। सभी कॉलेज स्कूल बंद किए हुए है। शांति स्थापित बनाने के लिए शीर्ष नेता महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला समेत विपक्ष के कई बड़े नेताओं को नजरबंद भी किया गया है । राज्य में कर्फ्यू लगाया गया है। शांति व्यवस्था बनी रहे जिसके लिए सुरक्षाकर्मियों की 100 टुकड़ियां और पुलिस प्रशासन को चप्पे-चप्पे पर तैनात किया हुआ है । अमरनाथ यात्रियों को भी यह एडवाइज किया गया कि जम्मू कश्मीर में यात्रा के दौरान कम से कम समय ठहरना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here