मौत का कहर गिरी बिल्डिंग – मुंबई

0
346
maut ka kahar giree bilding – mumbee

मुंबई के डोंगरी इलाके में आज सुबह 11.45 बजे एक चार मंजिला इमारत देखे ही देखे ढेर हो गयी | यह इमारत लगभग सौ साल पुरानी थी और बहुत खस्ता हालत में हुई पड़ी थी | इस इमारत में लगभग 15 परिवार अपना गुजर बसर कर रहे थे | देखते देखते सब पर मसुबीतों का पहाड़ टूट गया | गिरने वाली बिल्डिंग के साथ लगती बिल्डिंग भी बहुत खस्ता हालत में है जिसमे रह रहे परिवारों को भी खतरा सताने लगा है उनका सोचना है कि कहीं इसका भी ये ही हशर हुआ तो जान से हाथ धोना पड़ सकता है |

मौतों का आंकड़ा

स्थानीय लोग और प्रशाशन पूरी मुस्तैदी से बचाव कार्य में जुटे हुए है, इमारत के नीचे दबने से 12 लोगो की मौत हो चुकी है और 40 से अधिक लोगो की मलवे के नीचे दबे होने की आशंका है | इमारत के अचानक गिरने से इमारत में रहने वाले तमाम लोग नीचे दब गए | जिसमे महिलाएं और बच्चे की संख्या अधिक हो सकती है और माना जा रहा है कि मौतों का ये आंकड़ा काफी बढ़ सकता है।

राहत कार्य और बचाव

बम्बई नगर निगम के अनुसार डोंगरी एरिया के एमए सारंग रोड पर 80 से 100 साल पुरानी केसरबाई बिल्डिंग का आधा हिस्सा एकाएक गिर गया। इस इमारत के नीचे दुकानें बनी थीं और गली की चौड़ाई कम होने की वजह से रेस्क्यू अभियान में में बहुत मुश्किल आ रही है| टीमें पैदल ही घटनास्थल पर पहुंचकर राहत कार्य कर रही है | एनडीआरएफ और फायर ब्रिगेड टीम के साथ साथ स्थानीय लोग भी बचाव कार्य में लगे हुए है | प्रशासन ने ये देखते हुए आस पास की इमारतों को भी खाली करवा दिया गया है | स्थानीय लोगो के मुताबिक इमारत काफी खस्ता हालत में थी | मुंबई में इस इलाके में कुछ दिनों से भारी बारिश और तेज हवा चल रही थी जिस के कारण ये खस्ता हालत वाली इमारत देखते ही देखते मलवे में तब्दील हो गयी | सभी घायलों को नजदीकी जेजे अस्पताल में दाखिल करवा दिया गया है|

सरकारी मरहम पट्टी

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने घटना पर गहरा दुःख प्रकट करते हुए एनडीआरएफ, फायर ब्रिगेड टीम और ऐंबुलेंस टीम को हर संभव मदद करने के आदेश दिए हैं। घर से बेघर हुए प्रभावित लोगो के लिए बीएमसी ने इमामबाड़ा म्युनिसिपल सेकंडरी गर्ल्स स्कूल में रेन बसेरा बनाया गया है| इमारत गिरने से आस पास कि इमारतों कि स्पोर्ट ख़त्म हो गयी इसलिए प्रशासन ने आसपास कि इमारते भी खाली करवा दी है और लोगों को वहीं सुरक्षित रखा गया है। फिलहाल बचाव कार्य चल रहा है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here