हुई वर्ल्ड कप से बाहर – टीम इंडिया

मैनचेस्टर में कल वर्ल्ड कप क्रिकेट 2019 के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंज ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया इस मैच में भारत न्यूज़ीलैंड से 18 रन से हार कर वर्ल्ड कप से बाहर हो गया है| 9 तारीक को बारिश की वजह से मैच को बीच में रोकना पड़ा था तब तक न्यूजीलैंज टीम ने 46.1ओवर में 211 रन बना लिए थे कल फिर से न्यूजीलैंज ने उस स्कोर से आगे खेलना शुरू किया तो न्यूजीलैंज 50 ओवर खेलते हुए 8 विकेट के नुक्सान से 239 रन बनाये और टीम इंडिया के लिए 50 ओवर में 240 रनों का लक्ष्य रखा। भारत की शुरआत बेहद खराब रही एक के बाद एक विकेट गिरते चले गए महज 24 रन पर भारत ने 4 विकेट खो दिए | 7वें विकेट की जोड़ी ने पारी को संभाला धोनी और जडेजा ने भारत के लिए 116 रन जोड़े तो भारत को जीत के आसार नजर आने लगे और दर्शको के लिए मैच काफी दिलचस्प हो गया था। पर लक्ष्य को जल्दी हासिल करने के चक्कर में पहले जडेजा और फिर धोनी पवेलियन लोट गए । दिनेश कार्तिक के बाद ऋषभ पंत जब आउट हुए तो कप्तान विराट कोहली ने कोच रवि शास्त्री और रोहित शर्मा से आगे कैसे जाया जाये इस बारे में चर्चा की पर उनकी रणनीति कोई काम नहीं आयी |

Semi Final Match

 

 विशेषज्ञो का विश्लेषण

विश्व कप में भारत की सेमीफाइनल में हार के बाद अलग अलग ब्यान सामने आ रहे हैं क्रिकेट प्रेमी और विशेषज्ञ सोशल मीडिया पर टीम इंडिया के हार के कारण, और सुझाव पोस्ट कर रहे है| सौरभ गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण सहित पूर्व दिग्गज क्रिकेटरों ने महेंद्र सिंह धोनी को सातवें नंबर पर बल्लेबाजी पर भेजने को गलत निर्णय बता रहे है क्योकि जैसे विकेट जल्दी जल्दी गिरे जा रहे थे हौंसला बिखरता जा रहा था इसलिए हार्दिक पंड्या और दिनेश कार्तिक से पहले धोनी को भेजना चाहिए था | जिस प्रकार विश्व कप 2011 के फाइनल में युवराज सिंह से पहले चौथे नंबर पर बैटिंग के लिए आए थे और विश्व कप में जीत हासिल की थी ।’ इस बार के इस गलत निर्णय से भारत 18 रन से हार गया। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर का भी ये ही मानना है की कप्तान विराट कोहली ने धोनी को 7वें नंबर की बजाय पहले भेजना चाहिए था ये प्र्शन सभी की तरफ से उठ रहा है की ऐसी मुश्किल परिस्थिति में धोनी के अनुभव को देख कर पहले भेजना चाहिए था |

 

पाकिस्तानी नजर से

वर्ल्ड कप 2019 में भारत के बहार होने पर क्रिकेट प्रेमियों में चहरे पर मायूसी का माहौल है | टीम इंडिया की हार से पाकिस्तानी लोग खुश नजर आ रहे है सोशल मीडिया पर वो अलग अलग तरीके से अपनी ख़ुशी परोस रहे है| पिछले दिनों पाकिस्तान सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्री चौधरी फवाद हुसैन एक ट्वीट की वजह से चर्चा में रहें है | इस सेमीफाइनल में हार के बाद भी फवाद हुसैन ने लिखा, ‘पाकिस्तानियों की नई मोहब्बत न्यू जीलैंड।’ जबकि पाकिस्तान पहले ही वर्ल्ड कप से बाहर हो गया था। वकार यूनुस ने भी अपने ट्वीट में भारत हार पर टिप्पणी की और कहा की का कुटिल तंज ‘ये खेल बहुत निर्दयी खेल है हमे अंदाज़ा भी नहीं होता की कब हम इसमें पटकी खा जायेंगे| इस हार से मुझे एक सबक मिला है…खेल को कभी गन्दा ना करें |’ भारत पर इंग्लैंड के खिलाफ जानबूझकर कर हारने का आरोप होने के तरफ इशारा था ताकि पाकिस्तान वर्ल्ड कप से बाहर हो जाए। पाकिस्तान के कप्तान सरफराज ने इसे गलत बताते हुए कहा की अगर भारत इंग्लैंड से जीत भी जाता तो भी पाकिस्तान का सेमीफाइनल में पहुंचना पक्का नहीं था।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *