विपक्षी पार्टियों ने उठाया सवाल

0
75
Donald Trump

कश्मीर पर मध्यस्थता वाले बयान पर भारत की राजनीतिक मुद्दा गरम चल रहा है। अमेरिकी के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मंगलवार को पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान से वाइट हाउस में मुलाकात में ये कहा था कि भारत के प्रधानमंत्री ने कश्मीर में चल रहे उत्पात और विवाद से निपटारे के लिए मदद मांगी है और कहा की नरेंद्र मोदी ने कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता वाली बयानबाजी की है | इस पर प्रधान मंत्री की और से कोई प्रतिक्रिया ना आने से विपक्षी पार्टी वाले प्रधान मंत्री की चुप्पी को मुद्दा बना रहे है|

मुद्दा गर्म होने की वजह से विदेश मंत्री जयशंकर ने राज्यसभा में स्थिति को भांपते हुए क्लियर किया कि प्रधानमंत्री मोदी जी ने ट्रम्प से कश्मीर पर मध्यस्थता वाली कोई बात नहीं की| राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने कहा कि यह देश की एकता और राष्ट्रीय हित के हिसाब से पुरे देश का मुद्दा है| जिसे हमे सभी को मिलकर निपटना होगा |

विपक्षी पार्टिया के तज

इस पर विपक्षी पार्टिया भी फब कस रही है इन सब के चलते राहुल गांधी ने ट्वीट भी किया कि अगर ट्रम्प ने कश्मीर पर मध्यस्थता कि बात का दावा किया है तो हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के साथ धोखा किया। “विपक्ष ने संसद के दोनों सदनों की चर्चा के बाद प्रधानमंत्री से इस मुद्दे पर जवाब मांगा। जवाब में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बात को नकारते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने ट्रम्प से कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थ वाली कोई बात नहीं हुई । और वो पाकिस्तान को खुश करने के लिए ऐसे ब्यान दे रहे है और ट्रंप के दावे को गलत बताया |

भारत की राजनैतिक सियासत में अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के इस इंडिरेक्ट दावे से हलचल मच गयी | ट्रम्प के इस बयान के बाद भारत और अमेरिका के संबंधों में भी एक तनाव भी आ गया है। उधर भारत सरकार के मंत्री ट्रंप के दावे को झूठ कहे जा रहे है | इस पर भारत विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने राज्यसभा में साफ कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी जी की तरफ से ऐसी कोई भी पेशकश नहीं की गई । दरअसल ट्रंप पहले भी बहुत बार इस तरह के अप्रत्याशित बयान से सुर्ख़ियो में रहे है जिससे की हर देश की राजनीति में हलचल होती रहती है |

अमेरिका की खबर से

एक अखबार ‘वॉशिंगटन पोस्ट’ ने अपने दावे में ट्रंप को करीब 11 हजार बार ‘झूठ’ बोलने का सच छाप चुकी है। वॉशिंगटन पोस्ट अखबार ने ट्रंप के बहुत से बयानों का झूठ की बातचीत करने का दावा किया है और कहा है की ट्रम्प झूठे और भरमाने वाले बयान करते है । 10 जून को पब्लिश एक न्यूज़ में लिखा है कि ट्रंप ने बतौर राष्ट्रपति 872 दिन पूरे हो गए है इस कार्यकाल दौरान उन्होंने लगभग ग्यारह हजार बार झूठे या भरमाने वाले बयान दिए है। वॉशिंगटन पोस्ट की टीम ने उनके संदिग्ध बयानों का जब खंगाला तो पाया की वो हर दिन करीब 12 संदिग्ध झूठ बोलते है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here