चारो तरफ सर्दी का कहर,ठिठुरा भारत

0
260
Delhi-Cold-Weather (1)

देश में पहाड़ों पर बर्फबारी और शीतलहर के कारण मैदानी इलाकों में ठिठुरन बढ़ती जा रही है। रिकॉर्ड तोड़ ठंड के बीच दिल्लीवासियों ने मौसम की सबसे सर्द सुबह में आंखें खोलीं। हरियाणा में ठंड के कारण रेड अलर्ट जारी करना पड़ा तो उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, बिहार और झारखंड में भी जनजीवन प्रभावित हुआ है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि अभी तीन दिन और इस हाड़ कंपकंपा देने वाली सर्दी का प्रकोप बना रहेगा। मैदानी इलाकों में बुरा हाल है।

यूपी में कड़कती सर्दी ने ली 20 लोगों की जान

देश की घनी आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश में 20 लोगों की मौत हो गई तो झारखंड में चार लोग काल के शिकार बन गए। कोहरे कारण हुए हादसों में कई लोगों की जान गई है। रेल, सड़क और वायु यातायात बुरी तरह प्रभावित है।उत्तर प्रदेश के कई जिलों में शुक्रवार को निकली बेजान धूप लोगों को राहत नहीं दिला सकी। शाम होते-होते हवा ने गलन और बढ़ा दी। भीषण ठंड से सुलतानपुर में दो लोगों की मौत हो गई। भदोही में चार, जौनपुर में दो, आजमगढ़, मऊ व गाजीपुर में एक-एक लोग की मौत हो गई। प्रतापगढ़ में ठंड की वजह से एक व्यक्ति की मौत हो गई। प्रयागराज में दो लोगों ने ठंड से दम तोड़ दिया। मुरादाबाद में कोहरे से रेल और सड़क यातायात प्रभावित दिखाई दिया। रामपुर में दो महिलाओं की तथा सम्भल में एक व्यक्ति की ठंड से मौत हो गई।

दिल्ली में न्यूनतम तापमान के कारण ठिठुरे लोग

देश की राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 4.2 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। दिन में खिली हल्की धूप भी ठिठुरन से राहत नहीं दिला पाई। शनिवार को न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस ही रहने की संभावना है। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर, बागपत, बिजनौर, हापुड़ जैसे जिलों में तापमान 3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया तो मथुरा का न्यूनतम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। दोपहर बाद हल्की धूप निकलने से लोगों को थोड़ी राहत मिली, लेकिन दिन ढलते ही ठंड ने अपने आगोश में ले लिया। बंगाल में कोलकाता समेत कई जिलों में दिनभर बादल छाए रहे और कहीं-कहीं हल्की बारिश हुई।

पारा न्यूनतम होने के कारण जल स्रोतों में बर्फ का जमाव

पिछले दिनों में बारिश के कारण झारखंड में तापमान तेजी से गिरा है। रांची से 65 किमी दूर पिपरवार में न्यूनतम तापमान दो डिग्री पर पहुंच गया। पहाड़ों पर जनजीवन बेहाल पहाड़ों पर ठंड से राहत मिलती नहीं दिख रही है। श्रीनगर समेत अधिकांश इलाकों में लगातार धूप निकल रही है, लेकिन तापमान लगातार नीचे गिर रहा है। डल झील समेत अधिकतर जल स्रोत जम गए हैं। पाइपलाइन में पानी जमने से पेयजल आपूर्ति प्रभावित हुई है। उत्तराखंड के जोशीमठ, पिथौराग़़ढ और मुक्तेश्वर में पारा शून्य से नीचे है, जबकि अल्मो़ड़ा और टिहरी में यह शून्य के करीब पहुंच गया। हिमाचल प्रदेश में धूप खिलने से लोगों को कुछ राहत मिली। केलांग, कल्पा, मनाली कुफरी, सुंदरनगर और सोलन में तापमान जमाव बिंदू नीचे दर्ज किया गया है।

शीतकालीन अवकाश में बर्फबारी के दर्शन करने पहुंच रहे है लोग

नया साल मनाने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहाड़ों की तरफ रुख कर लिए हैं। श्रीनगर में डल झील में सुबह लोगों को जमे पानी की मोटी परतों को तोड़ते देखा गया। हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में बड़ी संख्या में लोग बर्फबारी देखने पहुंचे हैं। सप्ताहांत की छुट्टियों के कारण मैदानी इलाकों में पयर्टन स्थलों पर रौनक रही।

इन शहरों में पारा (डिग्री सेल्सियस)

श्रीनगर -5.6
लेह -20.7
केलंग -15.0
मनाली-1.0
हिसार 0.3
मथुरा 2.0
बठिंडा 2.8
दिल्ली 4.2
मसूरी 1.5

नए साल पर ही सुधरेगा मौसम

प्रादेशिक मौसम विज्ञान केंद्र दिल्ली के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव के अनुसार, उत्तर-पश्चिमी हवा के कारण अभी ठिठुरन भरी ठंड का प्रकोप ऐसे ही जारी रहेगा। 31 दिसंबर के बाद से ही तापमान में कुछ सुधार हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here