लोकसभा चुनाव-2019, कौन लड़ेगा कहाँ से चुनाव, देखना है कि किस में कितना है दम

0
182
lok-sabha-chunav-2019

लोकसभा चुनाव2019 शुरू होने ही वाले हैं। सत्ता के गलियारों में हलचल पूरे मुकाम पर है। जहां भाजपा अपने पक्ष को मजबूत करने के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रही, वहीं कांग्रेस भी रणनीतियां बनाने में जुटी है। अभी हाल ही में आप और कांग्रेस के गठबंधन की बात भी हवा में फैल चुकी थी और उधर सपा और बसपा का महागठबंधन भी दोनों पार्टियों को खुलकर चुनौती दे रहा है। सूत्रों की माने तो भाजपा और कांग्रेस के दोनों दिग्गज आमने -सामने आ चुके हैं। आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अमेठी से अपना नामांकन पत्र दाखिल करने के साथ साथ रोड शो के माध्यम से अमेठी की जनता से रूबरू होंगे। नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया में उनकी मां तथा यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी तथा बहन व कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी भी उनके साथ रहेंगी।

आज प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी भी अपने गृह राज्य गुजरात से चुनाव प्रचार आरम्भ करेंगे। वे इस प्रचार की शुरुआत सौराष्ट्र के राजकोट से करेंगे। अमेठी में एक बार फिर राहुल और स्मृति ईरानी आमने-सामने हैं। इन सबके साथ जो एक नाम और चर्चा का विषय बना हुआ है वो जा जेएनयू के कन्हैया का। उसने बेगूसराय से सीपीआई उम्मीदवार के नाते अपना पर्चा भर दिया है। कन्हैया का साथ देने जिस तरह यूथ सड़कों पर उतरा है उससे बिहार में इस बार बदलाव के आसार साफ नजर आ रहे हैं। 11 अप्रैल से लोकसभा चुनाव का पहला चरण शुरू होने जा रहा है। लोकसभा चुनाव के पहले चरण में 91 सीटों पर होने वाला चुनाव प्रचार थम चुका है ।पहले चरण में 20 राज्यों की 91 लोकसभा सीटों के लिये मतदान होने जा रहा है। आयोग द्वारा घोषित चुनाव कार्यक्रम के अनुसार पहले चरण के मतदान वाली 91 सीटों पर सुबह सात बजे मतदान शुरु होगा। इनमें से कुछ सीटों पर शाम चार बजे तक, कुछ पर पांच बजे तक और कुछ सीटों पर छह बजे तक मतदान होगा। निर्वाचन नियमों के अनुसार मतदान खत्म होने के समय से 48 घंटे पहले चुनाव प्रचार रुक जाता है अतः जिन सीटों पर शाम चार बजे तक मतदान है, उन सीटों पर मंगलवार शाम तक पार्टियों ने प्रचार को रोक दिया है। उत्तर प्रदेश की आठ और पश्चिम बंगाल की दो सीटों पर सुबह सात बजे से शाह छह बजे तक और बिहार, मणिपुर, मेघालय, नगालैंड और ओडिशा में सीटों पर सुबह सात बजे से शाम चार बजे तक मतदान होगा।

चुनाव आचार संहिता के मुताबिक मतदान से 48 घंटे पहले चुनाव प्रचार अभियान थमने के दौरान सोशल मीडिया, प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के अलावा जनसभा या किसी अन्य माध्यम से प्रचार प्रतिबंधित रहेगा। चुनाव आयोग द्वारा पहले चरण के मतदान के लिए 18 मार्च को अधिसूचना जारी होने के बाद प्रचार अभियान जोर शोर से शुरू हो गया था। आयोग ने 17वीं लोकसभा के गठन के लिये 543 सीटों पर सात चरण में होने वाले चुनाव का कार्यक्रम दस मार्च को घोषित किया था।पहले चरण में आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, उत्तराखंड, मिजोरम, नगालैंड, सिक्किम और तेलंगाना की सभी लोकसभा सीटों के लिये मतदान होगा। इसके अलावा उत्तर प्रदेश की आठ लोकसभा सीटों और बिहार की चार सीटों तथा असम की पांच और महाराष्ट्र की सात, ओडिशा की चार और पश्चिम बंगाल की दो सीटों के लिये मतदान होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here